केस स्टडी

By , September 22, 2009 2:22 am

व्याख्या :-

कार्यक्रम के क्षैत्र में आने वाले गांवों में संस्था के साथ व संस्था कार्मिकों द्वारा बैठके कर समुदाय में स्वास्थ्य की जानकारी दी जा रही है जिसमें सुरक्षित मातृत्व फिलिप चार्ट द्वारा गर्भवती महिलाओं का पंजीयन व उसकी जांच व टीकाकरण सुरक्षित प्रसव पूर्ण तैयारी गर्भावस्था के जोखिम गर्भावस्था के दौरान संतुलित आहार इसमें पुरूष भागीदारी-73, महिलायें-94, कुल 167 लोगों को जानकारी दी। कार्यक्रम के क्षेत्र में 12 गांवों में 13 टीकाकरण दिवस का आयोजन किया गया जिसमें टीकाकरण के साथ गर्भवती महिलाओं का पंजीयन व चैकअप करवाया गया। गर्भवती महिलाओं को आयरन की गोलिया व आराम करने के बारे में समझाया गया। इस माह ढूण्ढ़ा में टीकाकरण दिवस दिनांक 11.09.08 को होना था लेकिन ए.एन.एम. अवकाष पर चली गई तो ग्रामिणो ने कार्यक्रम समन्वयक को फोन किया तो समन्वयक ने अपने स्तर पर दूसरे दिन ए.एन.एम. रक्षा परिहार को ले जाकर 12.09.08 को टीकाकरण किया गया।

ढूण्ढ़ा में श्रीमती अन्तरी देवी पत्नी चैनाराम, जाति मेघवाल प्रसव के समय मृत्यु हो गई कारण टीकाकरण अन्धविच्च्वास के कारण नहीं करवाया गया। मयूर ग्रामीण विकास संस्थान के बाबु गोस्वामी द्धारा बार बार समझाने पर भी परिवार वाले नही माने और कहते रहे की हमारे देवतायी है और परिणाम स्वरूप प्रसव के समय ताण आने की वजह से श्रीमती अन्तरी देवी की मृत्यु हो गई। यह सन्देच्च ग्रामीण विकास संस्थान के बाबु गोस्वामी ने सभी गर्भवती महिलाओं और उनके परिवार वालो को दिया तो उन्होने अपना पंजियन करवाया व टीकाकरण कार्यक्रम को सफल बना रही है।

Leave a Reply


− 1 = two

Panorama Theme by Themocracy